Powered by Learn Selenium Webdriver

Home / Creative Carvings / तेरे इश्क में

Powered by Inviul

तेरे इश्क में

 

 
मयखानें ने भी आज रुसवा कर दिया,
जब उसे पता चला हमने खुद को तुमसे जुदा कर दिया,
मय ने भी नशे को अलविदा कर दिया या,
जब मैंने हाथ छोडा़ और तुझे फना कर दिया।
 
इतनी थीं मोहब्बत की बदनाम हो गई,
समन्दर थीं फिर भी गुमनाम हो गई,
मयखाने में क्या मिलती उसको पनाह,
ये तो तेरे नशे में सरेआम हो गई।
 
इक कशिश थीं, उसका नशा था,
पयमाने ने भी छलक के दम तोड़ा था,
हमारी रूसवाई जब जुदाई हो गई,
मय की भी मयखाने से लड़ाई हो गई।

Check Also

Jayhawk Advisors – Your Advisor In Debt Management

Personal finance is defined as the management of money and financial decisions for a person …

Economic Nexus

The conceptualization of economic nexus is all about nexus standards that look to certain criterias …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

badge
%d bloggers like this: